शराब मुक्त उत्तराखंड अभियान का जोशीला आगाज

शराब मुक्त उत्तराखंड अभियान की पहली विचार गोष्ठी में वक्ताओं के प्रखर विचारों ने संगठन सदस्यों की मुहिम में जोश भर दिया है। वहीं बच्चों को भी नशे व शराब के दुष्परिणाम बताते हुए शराब मुक्त उत्तराखंड बनाने की शपथ दिलाई गई। मंगलवार को शराब मुक्त उत्तराखंड कार्यक्रम की पहली विचार गोष्ठी राजकीय जूनियर हाइस्कूल फतेहपुर हल्द्वानी में आयोजित की गई।

इसमें बतौर मुख्य वक्ता पूर्व जिला पंचायत सदस्य व युवा नेता नीरज तिवारी ने कहा कि उन्होंने इसी स्कूल से शिक्षा ग्रहण की है। कहा कि क्षेत्र में शराब के अलावा स्मैक व चरस के नशे का प्रचलन भी बढ़ रहा है। इससे परिवार टूट रहे हैं और घरों में होने वाली लड़ाई से बच्चों पर गलत असर पड़ रहा है। जबकि बच्चे ही आने वाले कल के भ्विष्य हैं। नीरज तिवारी ने कहा कि वे संगठन को हर संभव मदद देंगे और कार्यक्रमों में भी प्रतिभाग करते रहेंगे।

अभियान के संस्थापक सदस्य व एसएस साल्युशन्स के सीईओ साफ्टवेयर इंजीनियर गिरीश भटट ने कहा कि एल्होहल शरीर के लिए बहुत घातक है। इससे तमाम बीमारी होने के साथ ही शराब युवाओं के सेहत व भविष्य के लिए भी हानिकारक है। उन्होंने कहा कि बच्चे घरों व आसपास के लोगों को भी नशा व शराब न पीने के लिए जागरूक करें। कहा कि सरकार शराब को राजस्व का बउ़ा जरियर मानती है। मगर राज्य में पर्यटन से भी काफी राजस्व प्राप्त किया जा सकता है।

विजन सोशल सोसायटी के सीईओ अरविंद पंत ने कहा कि शराब से युवाओं का भविष्य बर्बाद हो रहा है। परिवारों में भी शराब लड़ाई की वजह बन रही है। कहा कि इस मुहिम को आगे बढ़ाने के लिए सभी को खासकर बच्चों को भी जागरूक होना पड़ेगा। कहा कि यह महज विचार गोष्ठी नहीं मुहिम का बीज है।

विजन सोसायटी के अध्यक्ष संतोष पंत ने कहा कि शराब मुक्त उत्तराखंड के लिए स्वयं से पहल करनी होगी, धर के लोगों को समझाना होगा तभी आगे अन्य लोगों को समझा पाने में हम सफल हो पाएंगे। सचिव आनंद सिंह मेहरा ने कहा कि शराब उत्तराखंड के घर-घर पहुंच चुकी है। कहा कि शराब को जड़ से समाप्त करने के लिए लगातार संघर्ष जारी रखा जाएगा।

बीडीसी सदस्य दीपा पांडे ने कहा कि नशे के सेवन से मानसिक प्रवृत्ति पर भी असर होता है। उन्होंने बच्चों को गलत संगत व नशे से दूर रहने का आहवान किया।

कार्यक्रम का संचालन करते हुए मुहिम के संस्थापक सदस्य पंकज रौतेला ने कहा कि अभी यह पहल है, मगर हौसले व निंरतर जनसंपर्क से इसे अंजाम तक पहुंचाया जाएगा, जिससे कि शराब के सेवन से बर्बाद हो रहे युवाओं को बचाया जा सके।

कार्यक्रम का समापन करते हुए स्कूल के सहायक अध्यापक मोहन सिंह बिष्ट ने कहा कि वे भी इस मुहिम में साथ हैं। उन्होंने मुहिम की सराहना करते हुए शादी समारोहों से भी शराब की प्रथा समाप्त करने के लिए युवाओं को जागरूक करने का सुझाव सदस्यों को दिया। कार्यक्रम के समापन अवसर पर बच्चों को शराव व हर प्रकार के नशे से दूर रहने व लोगों को भी जागरूक करने की शपथ दिलाई गई। इस दौरान नव जीवन ज्योति समिति अध्यक्ष ऋतु जोशी, ब्रिटानिया कर्मकार यूनियन अध्यक्ष दिनेश चंद्र जोशी, ललित मोहन भटट, राजेंद्र बर्गली,चंद्रा रज्ञैतेला, कामिनी कपिल, तनुजा बिष्ट, सोनाली मेहता, भारती जलाल सहित युवक मंगल दल फतेहपुर के सदस्य व स्कूली बच्चे मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *